डाटा रिकवर कैसे करे

0
252
Computer data recover
दोस्तों, आज जो तरीका मैं आपको बताने जा रहा हूँ उससे आप डिलीट डाटा को वापस प्राप्त करना सीखेंगे | यदि आपको इस आर्टिकल “डाटा रिकवर कैसे करे” में कोई समस्या हो या कुछ पूछना हो तो कृपया हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताये | डाटा रिकवर करना एक बहुत ही महवपूर्ण प्रक्रिया है और कभी भी काम आ सकती है | इस प्रक्रिया में आप अपने डिलीट हुए डाटा को रिकवर करते है | डाटा का मतलब आपके फोटोज, गाने, एक्सेल, वर्ड, पॉवरपॉइंट या कोई अन्य फाइल है | यहाँ बताये गए तरीके से आप ये निम्न प्रकार के काम कर सकते है –
  • डिलीट की हुई फोटो को वापस ला सकते है |
  • डिलीट हुए गानों को वापस ला सकते है |
  • मेमोरी कार्ड या Pen drive की सारी चीजे वापस लाये |
  • एम एस वर्ड, पॉवरपॉइंट या एक्सेल फाइल को रिकवर करे |
 
डाटा हमारे लिए सबसे इम्पोर्टेंट चीज़ है | हम अपनी फोटोज, पसंदीदा गाने, वीडियोस, जरूरी बिज़नस फाइल्स आदि को संभाल कर सुरक्षित रखते है ताकि हम बाद में जरूरत पड़ने पर उन्हें काम में ले सके | हम अक्सर अपना यह जरूरी डाटा कम्प्यूटर, मेमोरी कार्ड, पेनड्राइव, एक्सटर्नल हार्डडिस्क आदि में स्टोर करके रखते है |
 
लेकिन कई बार हमसे या किसी और से कोई जरूरी फाइल गलती से डिलीट हो जाती है या वह स्टोरेज डिवाइस करप्ट हो जाता है | जिससे हमें मजबूरन उस डिवाइस को फॉर्मेट करना पड़ता है और हमारी जरूरी फाइल्स डिलीट हो जाती है | यह बहुत ही दर्द भरी घटना है, हो सकता है इस घटना के कारण आपको आपको बिज़नस में नुकसान उठाना पड़े | ऐसे में उस डाटा को रिकवर करना बेहद ही जरूरी हो जाता है | यह काम आप एक प्रोफेशनल सॉफ्टवेर की मदद से कर सकते है जिसकी लिंक आपको इसी लेख में मिल जाएगी |

आखिर डिलीट किया हुआ डाटा कैसे रिकवर होता है

यह सवाल तो लगभग सभी के मन में आया ही होगा की आखिरकार डाटा को डिलीट कर देने के बाद भी वापस कैसे रिकवर किया जा सकता है | यह कैसे संभव है  | तो जानते है इसका जवाब |
 
जब भी आप किसी फाइल को मेमोरी में डालते है तो वह फाइल बाइनरी फॉर्मेट में यानि की 0 और 1 के रूप में मेमोरी में एक जगह पर स्टोर हो जाती है | उस जगह का एक यूनिक एड्रेस होता है | उस फाइल और उसके एड्रेस की जानकारी एक टेबल में रखी जाती है | जब भी आप मेमोरी में रखी किसी फाइल को एक्सेस करने की  कोशिश करते है तो सबसे पहले इस टेबल में देखा जाता है वह फाइल मेमोरी में है या नही | यदि वह फाइल मेमोरी में पड़ी है तो आपको दिखा दी जाती है अन्यथा नही |
 
जब भी आप मेमोरी में रखी किसी फाइल को डिलीट करते है तो उस फाइल की एंट्री उस टेबल से डिलीट कर दी जाती है | लेकिन आपकी फाइल अभी भी मेमोरी में स्टोर रहती है | इसीलिए तो जब आप किसी फाइल को कॉपी करते है तो ज्यादा समय लगता है | लेकिन जब आप उसी फाइल को डिलीट करते है को कम समय लगता है क्योंकि डिलीट करते समय सिर्फ टेबल से उस फाइल की एंट्री ही हटाई जाती है न की पूरी फाइल | यानि आपके द्वारा किसी फाइल को डिलीट करने पर भी वह फाइल आपके स्टोरेज डिवाइस में पड़ी रहती है | ऐसे में डाटा रिकवरी सॉफ्टवेर सीधे उस स्टोरेज डिवाइस के बाइनरी डाटा को पढ़कर उसकी एक अस्थाई नई टेबल बनाते है | जिससे हम उन फाइल्स को एक्सेस कर पाते है |
 

डाटा रिकवर नही होने का कारण

अब जानते है की ऐसी कोनसी स्थिती है जिसमे डाटा रिकवरी सॉफ्टवेर हमारी फाइल्स को रिकवर नही कर पते है | टेबल से एंट्री हटने का मतलब है की उस मेमोरी एड्रेस पर अब कोई काम की फाइल नही पड़ी है | इसलिए जब भी आप किसी नई फाइल को कॉपी करते है तो वह उस मेमोरी एड्रेस पर स्टोर की गई पुरानी फाइल (जिसकी एंट्री अब टेबल में नही है) को ओवरराईट कर देती है | एक बार ओवरराईट होने के बाद वह फाइल वापस रिकवर नही की जा सकती है | क्योंकि वह फाइल अब आपके स्टोरेज डिवाइस से पूरी तरह हट चुकी है |
 
अर्थात् डाटा रिकवरी सॉफ्टवेर सिर्फ उस टेबल को वापस बनाने का काम करते है | जिसमे आपके फाइल या डाटा की कम्पलीट जानकारी होती है |नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके डेटा रिकवरी का सॉफ्टवेयर डाउनलोड करे और इनस्टॉल कर ले|
 

डिलीट डाटा को वापस कैसे प्राप्त करे : प्रक्रिया

Time needed: 2 minutes.

अब बात करते है की डाटा रिकवर करने का क्या तरीका है | नीचे दिए गए स्टेप्स को ध्यान से पढ़े और फॉलो करे |

  1. डाउनलोड डाटा रिकवरी सॉफ्टवेयर

    नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करके डेटा रिकवरी का सॉफ्टवेयर डाउनलोड करे और इनस्टॉल कर ले |

    Download data Recovery software

  2. डाटा रिकवरी के लिए मेमोरी को चुने

    अब इस सॉफ्टवेयर को ओपन करे उस स्टोरेज डिवाइस को सेलेक्ट करे जिसे आपको रिकवर करना है | आप चाहे तो Specify a location सेक्शन में किसी एक लोकेशन को टारगेट करके भी डेटा रिकवर कर सकते है | इससे समय की बचत होगी | Select memory device for recover

  3. फाइल्स को चुने जिन्हें रिकवर करना है |

    अब Scan पर क्लिक करे और थोडा समय इंतज़ार करे |
    स्कैन कम्पलीट होने पर बायीं तरफ की डायरेक्ट्री में से अपनी सभी जरूरी फाइल्स को सलेक्ट कर ले | अब Recover पर क्लिक कर दे | select importent files for recover

  4. रिकवर डाटा

    अब वह लोकेशन सेट करे जहाँ पर आप अपना रिकवर किया हुआ डेटा रखना चाहते है | उसके बाद OK पर क्लिक कर दे | इससे आपको आपकी सलेक्टेड फाइल्स मिल जाएगी |

मोबाइल में कंप्यूटर कैसे चलाये

इस लेख के बारे में आपका कोई भी सवाल या सुझाव हो तो कृपया कर कमेंटबॉक्स में जरूर बताये | हमें आपकी प्रतिक्रिया का इंतज़ार रहेगा |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here